पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का निधन Total Post View :- 680

अलविदा कल्याण सिंह श्रध्दांजलि !! उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नहीं रहे!!

अलविदा कल्याण सिंह श्रध्दांजलि !!

दुःखद खबर ! अलविदा कल्याण सिंह श्रध्दांजलि ! उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह जी को विनम्र श्रद्धांजलि ! ✍️आकाश दीक्षित एडवोकेट !!

अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने वाले जन नेता कल्याण सिंह अब नहीं रहे।

5 जनवरी 1932 को अलीगढ़ में जन्मे कल्याण सिंह अपने जुझारू व्यक्तित्व के कारण जन जन के नेता थे।

उनका भाषण चुंबकीय आकर्षण पैदा करता था ।उत्तर प्रदेश में दूर-दूर से उनका भाषण सुनने लोग आते थे।

गरीब दबे कुचले पिछड़े वर्ग की वे आवाज थे। अद्वितीय नेतृत्व क्षमता के कारण वे भारतीय जनता पार्टी के अग्रणी नेता थे।

भारतीय जनता पार्टी को स्थापित करने वालों में वह भी एक थे।

वे 10 बार विधायक रहे !

1967 में पहली बार विधायक बनने के बाद वे 10 बार विधायक रहे ।

उत्तर प्रदेश जैसे विशाल राज्य में उनके नेतृत्व में पहली बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी ।

उन्होंने महिलाओं युवाओं किसानों के सशक्तिकरण के लिए कार्य किया।

श्री राम जी के प्रति उनके समर्पण को सदैव याद रखा जावेगा। 6 दिसंबर 1992 को तथाकथित बाबरी ढांचे को

गिराए जाने की पूरी जवाबदारी अपने ऊपर ले कर उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया

और बाद में उन्हें सुप्रीम कोर्ट से 1 दिन की सजा भी मिली। जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार किया।

वे उत्तर प्रदेश में दो बार मुख्यमंत्री बने। साथ ही हिमाचल प्रदेश एवं राजस्थान के राज्यपाल के पद का भी

पूरी जिम्मेदारी के साथ निर्वहन किया। वे राम जन्मभूमि आंदोलन के प्रमुख नेतृत्व कर्ता थे।

राष्ट्रभक्त ईमानदार नेता के रूप में उनका व्यक्तित्व विशाल वटवृक्ष के समान था।

अलविदा कल्याण सिंह श्रध्दांजलि !!

21 अगस्त 2021 को 89 वर्ष की आयु में उनका निधन हुआ। कुछ दिनों से अस्वस्थ थे तथा लगातार अस्पताल में भर्ती थे ।

उनके निधन की सूचना मिलते ही उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में शोक की लहर फैल गई।

उनके निधन पर प्रधानमंत्री सहित देश के सभी प्रमुख नेताओं, साधु-संतों, समाजसेवियों ने शोक व्यक्त किया ।

श्री राम जन्म श्री राम मंदिर निर्माण के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले इस राजनेता को,

राम मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ होने से बहुत खुशी थी पर वे श्री राम मंदिर पूर्ण होते नहीं देख पाए।

अलविदा कल्याण सिंह श्रध्दांजलि !! ✍️आकाश दीक्षित एडवोकेट !

ताजा समाचारों के लिये देखते रहें आपकी अपनी वेबसाइट

http://Indiantreasure. in

https://m-hindi.webdunia.com/kids-stories/story-of-goat-118061300024_1.html

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!