कान की सफाई कैसे करें ; कभी न करें ये 4 काम ! Total Post View :- 2323

कान की सफाई कैसे करें ; कभी न करें ये 4 काम !

कान की सफाई कैसे करें ; कभी न करें ये 4 काम ! जी हाँ ! कान शरीर का महत्वपूर्ण अंग है किंतु हम उसके प्रति अक्सर बहुत लापरवाही बरतते हैं। हाथ में थैला टांगे कान की सफाई करने वाले यहां वहां देखे जाते हैं । और लोग बड़े शौक से उन्हीं से सफाई करवाते रहते हैं।

लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि कान की सफाई करना कितना नुकसान दायक है ? और कान की सफाई कैसे करनी चाहिए ?

इस लेख में आज हम आपको बताएंगे कि कान की सफाई करना , कान की सफाई करने का गलत तरीका, हाइड्रोजन से कान की सफाई करना, बच्चों के कान की सफाई और कान में तेल डालना हानिकारक होता है।

जानते हैं इस बारे में डॉक्टर क्या कहते हैं!

कान की सफाई करना !

  • डॉक्टरों के मुताबिक कान की सफाई करनी ही नहीं चाहिए।
  • कान को सफाई की कोई जरूरत ही नहीं होती है कान स्वयं अपनी सफाई खुद कर लेता है ।
  • एक बार एक डॉक्टर से किसी ने पूछा की कान की सफाई कैसे की जाए किस चीज से की जाए ?
  • उन्होंने जवाब दिया कि कान की सफाई कोहनी से करना चाहिए।
  • जानकर आश्चर्य हुआ ! आपने भी कोहनी को कान तक पहुंचाने का प्रयास किया न!
  • और कोहनी कान तक नहीं पहुंची । जी हाँ !
  • तब डॉक्टर साहब ने बताया की “कान की सफाई करना ही नहीं चाहिए ।”
  • अक्सर लोगों में यह गलतफहमी रहती है कि कान से मैल निकल रहा है या कान में मैल भरा हुआ है।
  • असल में कान के अंदर एक चिपचिपा पदार्थ होता है जो बाहर से आने वाले धूल के कणों और कचरे को चिपकाकर कान के पर्दे तक नहीं पहुंचने देता ।
  • जिसे सभी कान का मैल समझते है। यह चिपचिपा पदार्थ निरंतर कान में बनता रहता है।
  • और पुराना होने पर नया पदार्थ उसे स्वयं कान से बाहर धकेल देता है जो खुद ब खुद बाहर हो जाता है।
  • अतः कभी ना करें यह चार काम ;

1- कान की सफाई करने का गलत तरीका ( ईयरबड )

  • अक्सर लोग ईयर-बड से कान साफ करते हैं जो बहुत ही खतरनाक होता है ।
  • क्योंकि इससे कान साफ करने पर कान से प्राकृतिक रूप से बाहर निकला हुआ मैल रूपी चिपचिपा पदार्थ पुनः अंदर चला जाता है ।
  • जिससे कान में बहरापन या तरह तरह की आवाज सुनाई देना जैसे रोग उत्पन्न हो जाते हैं ।
  • इसीलिए कान में कभी भी कोई भी वस्तु डालकर कान की सफाई नहीं करना चाहिए।
  • आप ध्यान से देखें तो ईयरबड में बहुत छोटे छोटे अक्षरों में लिखा रहता है कि इसे कान के अंदर ना डालें ।

2- हाइड्रोजन से कान की सफाई !

  • कुछ लोग कान में हाइड्रोजन डालकर भी कान की सफाई करते हैं ।
  • यह भी हेल्थ के लिए बहुत ही खतरनाक होता है। कान में डालने से यह सूजन और दर्द पैदा करता है।
  • यह एक एसिड है जो स्किन को जला देता है।
  • क्योंकि आम आदमी को इसका मेजरमेंट नहीं मालूम होता कि कितनी मात्रा में इसको उपयोग करना है।
  • इसीलिए कान की सफाई के लिए बिना ईएनटी डॉक्टर के कोई भी वस्तु डालकर सफाई ना करें।

3- बच्चों के कान की सफाई !

  • बच्चों के कान की सफाई तो बिल्कुल भी ना करें ।
  • इससे उनके कान के पर्दे फट भी सकते हैं। और हमेशा के लिए बहरापन आ सकता है।
  • अतः विशेषज्ञ और चिकित्सक की राय के बिना कोई भी कार्य नहीं करना चाहिए।

4- कान में तेल डालना हानिकारक है !

  • पुरानी परंपरा है कि कान में दर्द होने पर या कोई भी तकलीफ होने पर तेल डाला जाता है।
  • किंतु इसका कोई भी प्रमाणिक उल्लेख नहीं मिलता है। ऐसी स्थिति में कान में तेल डालना हानिकारक होता है।
  • कान में तेल डालने से बाहरी धूल के कण और गंदगी चिपक जाती है तथा इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है ।
  • और कान से बाहर निकलने वाला मैल पुनः कान के अंदर वापस चला जाता है। जिससे सुनाई देना बंद हो जाता है।
  • इसीलिए भूल कर के भी कान में तेल नहीं डालना चाहिए।

निष्कर्ष !

हमारे शरीर का सर्वथा उपेक्षित किंतु बहुत ही नाजुक अंग कान होता है । इसका ज्यादा रखरखाव करने की जरूरत भी नहीं पड़ती।

किंतु वर्तमान लाइफ स्टाइल में कान की सफाई करवाना, करना इयरबड का उपयोग करना, कान सफाई की मशीन का इस्तेमाल , कान में तेल डालना आदि ऐसे आयोजनों से हम स्वयं कानों के लिए खतरा पैदा कर देते हैं और अनेकों बीमारियों को आमंत्रित कर देते हैं।

चिकित्सक की सलाह लिए बिना कभी भी कानों के प्रति कोई छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए।

आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अवश्य शेयर करें। और ऐसी ही जानकारियां पाने के लिए देखते रहे आपकी अपनी वेबसाइट

http://Indiantreasure.in

संबंधित लेख भी पढ़ें !

Spread the love

2 thoughts on “कान की सफाई कैसे करें ; कभी न करें ये 4 काम !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!