Presently Increasing Disease- Relief Total Post View :- 325

Presently Increasing Disease- Relief ; Causes And Prevention | वर्तमान की बढ़ती बीमारी- आराम; कारण व निवारण

Presently Increasing Disease- Relief ; Causes And Prevention | वर्तमान की बढ़ती बीमारी आराम – कारण व निवारण ; आधुनिकता और कंफर्ट के इस दौर में यह बीमारी अपने पैर फैला रही है और नई पीढ़ी को निकम्मा बना रही है।

जब व्यक्ति इसका आदी हो जाता है तो यह एक लत बन जाती है। ऐसे में आसानी से सब कुछ मिलता रहे, तो व्यक्ति अपने इच्छाओं को भी भूल जाता है । उसकी महत्वाकांक्षाएं समाप्त हो जाती हैं। सपने मरने लगते हैं।

Presently Increasing Disease- Relief ; Causes | वर्तमान की बढ़ती बीमारी आराम – कारण

  • आज की नई पीढ़ी कुछ इसी दौर से गुजर रही है। आराम तलब जिंदगी की चलते अपने सपनों को खोते जा रहे हैं । इसके जिम्मेदार कोई और नहीं पेरेंट्स हैं । जो बच्चों की हर सुविधाओं का ध्यान रखते हैं ।
  • उन्हें सुविधा युक्त जीवन प्रदान करते हैं, जो उन्हें एक कंफर्ट जोन प्रदान करता है। जब बच्चे कुछ भी हासिल करना चाहते हैं, तो उन्हें कष्ट महसूस होता है। ऐसे में वह अपने इस कंफर्ट जोन से बाहर नहीं निकलना चाहते।
  • उनकी महत्वाकांक्षाएं, इच्छाएं और सपने सब समाप्त हो जाते हैं । वे केवल और केवल आराम चाहते हैं। यह आराम उनकी लत या नशा बन जाता है। जिसे वह छोड़ना नहीं चाहते और जीवन में कुछ भी नहीं कर पाते।
  • ऐसे में जब व्यक्ति को सुख सुविधाएं हासिल होना बंद हो जाती हैं, तब वह व्यक्ति नशे की ओर उन्मुख होता है और अपना सारा जीवन नशे की भेंट चढ़ा देता है।
  • किसी भी व्यक्ति को मिली हुई अतिरिक्त सुविधा उसके जीवन को नर्क बना सकती है। आवश्यकता से अधिक सुविधा आपको अपंग बना देती है।

Presently Increasing Disease- Relief ; Prevention | वर्तमान की बढ़ती बीमारी आराम – निवारण

  • यदि बच्चों के सपनों को जीवित रखना चाहते हैं। उनकी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करना चाहते हैं, तो उन्हें निकम्मा बनने से रोकना होगा।
  • आवश्यकता से अधिक सुविधा प्रदान करना भी घातक होता है। यह सुविधाएं आपके बच्चे को शारीरिक व मानसिक रूप से भी अक्षम बनाती हैं।
  • कड़ी मेहनत और लगातार परिश्रम सफलता की कुंजी है। जिसे स्वयं माता-पिता अपने बच्चों से दूर करते जा रहे हैं। बच्चों के जीवन को आसान बनाने के चक्कर में हम उन्हें मुश्किलों से जूझना नहीं सीखा पाते।
  • पेरेंट्स के द्वारा परोसा गया आसान रास्ता ही बच्चे के लिए जीवन का सबसे बड़ा कांटा बन जाता है । बच्चा हमेशा आसान रास्ते ही चुनने की कोशिश करता है। बच्चे को कठिनाई उठाने दें और अपना रास्ता स्वयं चुनने दे।
  • बच्चों की परवरिश प्राकृतिक वातावरण में करें । प्रकृति में हो रहे सर्दी, गर्मी, बारिश जैसे मौसम को झेलने की आदत डालें। सुरक्षा प्रदान करें किंतु उनका कवच ना बने उन्हें अपना कवच स्वयं बनाने दे।

निष्कर्ष | Conclusion

आज आपने Presently Increasing Disease- Relief ; Causes And Prevention | वर्तमान की बढ़ती बीमारी- आराम; कारण व निवारण के बारे में संक्षिप्त विचार जाने।

हो सकता है आप में से कुछ लोग इस बात से सहमत हों और कुछ लोग इससे सहमत नहीं भी हो सकते हैं। किंतु इतना तो तय है कि यह बीमारी धीरे-धीरे प्रत्येक घर में फैलती जा रही है। जिस पर हमें विचार अवश्य करना चाहिए।

इसका एक कारण बढ़ती हुई टेक्नोलॉजी भी है । जिसने हमें सारी सुविधाएं एक डिवाइस मोबाइल के जरिए प्रदान कर रखी है। जिसमें घर बैठे भोजन उपलब्ध हो जाना। मनोरंजन के असीमित साधन उपलब्ध होना। एवं बनावटी सपनों का देखना। सब कुछ उपलब्ध हो जाता है।

ऐसी हालत में कमजोर इच्छाशक्ति वाला व्यक्ति थोड़ी सी संतुष्टि पाकर अपनी महत्वाकांक्षाओं को भूल जाता है । और आराम के इस सस्ते और आसान रास्ते पर चल पड़ता है, जो उसकी जिंदगी को नरक में ढकेलते हैं।

इस पर अवश्य विचार करें । अपने विचार कमेंट के माध्यम से प्रेषित करें, ताकि समाज में आपके विचारों का सभी को लाभ मिल सके।

धन्यवाद

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!