Nasha kaise chhoden Total Post View :- 214

Nasha mukti ke upay, drug addiction remedies !

Nasha mukti ke upay नशा मुक्ति के उपाय ; जीवन के प्रत्येक क्षण का अपना नशा होता है जो प्राकृतिक होता है। वह आनन्द का, खुशी का, स्वास्थ्य का, या संतोष का होता है। किंतु ज्यादा सुख की चाह ने मनुष्य का सुख चैन , आनन्द, स्वास्थ्य, संतोष सभी कुछ छीन लिया है। सुख की बढ़ती हुई महत्वाकांक्षा ने व्यक्ति को नशे की दलदल में धकेल दिया है। और यहीं से शुरू होता है पतन का मार्ग।

नशे में लिप्त व्यक्ति का ना तो कोई पारिवारिक जीवन होता है ना ही कोई सामाजिक जीवन होता है। ना उसे वास्तविक खुशी मिलती है ना ही वास्तविक आनंद प्राप्त कर सकता है। नशा व्यक्ति को अंदर ही अंदर खोखला कर देता है तथा समाज से दूर अकेला कर देता है। ऐसे व्यक्ति अपनी जिम्मेदारियों को भी नशे की भेंट कर देते हैं और स्वयं भी अपने जीवन को नष्ट करते जाते हैं।

आज इसी दुखद समस्या से मुक्ति के लिए कुछ उपाय करने का प्रयास करते हैं । जो व्यक्ति स्वयं अपना नशा छोड़ना चाहते हैं उन्हें इस लेख से बहुत मदद मिलेगी । प्रेरणा के शब्द छोटे ही क्यों ना हो लेकिन कठिन वक्त में वही बड़ी समस्या की चाबी होते हैं । शायद किसी भी एक बात से किसी का भी जीवन बदल सकता है अतः सद विचारों को एक दूसरे को प्रेषित करते रहना चाहिए । आइए जानते हैं नशा मुक्ति कैसे करें कुछ बातों को जान लेने के पश्चात आप नशे से दूर रहना सीख सकते हैं। आज हम आपको Nasha mukti ke upay drug addiction remedies नशा मुक्ति के कुछ उपाय बताएंगे अतः इसे अंत तक अवश्य पढ़ें।

Nasha mukti ke upay, drug addiction remedies, नशामुक्ति के उपाय!

आज संसार में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसे व्यसनों से होने वाली दुर्गति की जानकारी न हो।

दुखकर्ता, सुखहर्ता ये जानलेवा नशे तन-मन-धन-आयु-चरित्र विश्वास को बरबाद करने वाले हैं।

फिर भी यह घोर आश्चर्य की बात है कि लोग इन्हें गले लगाते हैं।

आ बैल मुझे मार की कहावत यहाँ पूरी तरह लागू होती है।

नशों से मुक्त रहना स्वस्थ व सार्थक जीवन जीने की एक महत्त्वपूर्ण कला है।

यदि सचमुच आप स्वयं नशे से मुक्त होना चाहते हैं बताए गए इन महत्वपूर्ण बिंदुओं Nasha mukti ke upay अवश्य अमल करें।

इन्हें अवश्य अपनायें !

  • नशेड़ी साथियों से दूर है।
  • मेहमानों का स्वागत नशे से न करें।
  • घर मे या जेब में नशे की चीजें न रखें।
  • बच्चों या किसी अन्य व्यक्ति के हाथ बाजार से नशीली वस्तुएँ न मंगायें।
  • स्वयं को सदा किसी न किसी रचनात्मक कार्य में व्यस्त रखें। व्यर्थ व नकारात्मक चिंतन से दूर रहें।
  • व्यसन की शुरुआत पान एवं पान-मसालों से होती है, इनसे बचें।
  • शौक वा फैशन के नाम पर अपने घर-परिवार को बर्बाद न करें ।
  • अपने मन को याद दिलाते रहे कि मुझे देख बच्चे भी नशा करना सीखेंगे।
  • इसके प्रभाव में वे बीमारियों के शिकार हो सकते हैं।
  • किसी भी यज्ञ, पर्व, सत्संग स्थान, तीर्थ स्थान या विधि विशेष पर दृढ़ संकल्प करके नशा वहीं पर छोड़ दें।
  • अपने व्यसनमुक्ति के दृढ़ संकल्प को अपने मित्रों व संबंध संपर्क में गर्व के साथ घोषित करें।

सावधान रहें !

  • दृढ़ इच्छा शक्ति से नशे के त्याग का संकल्प ले व पुनः प्रारम्भ करने के बहानों से सावधान रहे।
  • एक नशा छोड़कर दूसरा नशा न अपनायें।
  • नशे को मात्रा प्रतिदिन थोड़ी-थोड़ी कम करते हुए भी इसे छोड़ सकते हैं ।
  • दृढ़ संकल्प के धनी एक ही बार में इसे हमेशा के लिए छोड़ दें।
  • लाखों लोग नशा छोड़ चुके हैं। आप भी छोड़े। जल्दी निश्चय करें।
  • देर होने पर सुधार की गुंजाइश क्रमशः कम होती जाती है।
  • चाय, कॉफी आदि नशों से भी बचें। इनमें जो कैफीन होता है, वह धूम्रपान की तलब बढ़ाता है।
  • धूम्रपान को तीव्र इच्छा होने पर जीभ के भीतरी भाग में दो बूंद लौंग के तेल की डाल लें
  • व्यसनमुक्ति संबंधित साहित्य अधिक से अधिक पढ़े व पढ़ायें।
  • नशा लेते व धूम्रपान करते व्यक्तियों के दृश्य न देखें ।

स्वाध्याय करें ! Nasha mukti ke upay

  • नित्य एक घंटा श्रेष्ठ पुस्तकों का स्वाध्याय करें।
  • आत्मचिंतन व प्रभु भक्ति में मन को लगायें।
  • गायत्री मंत्र या इष्ट मंत्र का जप करने लगे।
  • समय निकालकर कभी अस्पतालों की सैर करें। नशों का परिणाम स्वयं देखें।
  • प्रतिदिन ध्यान साधना, गायत्री मंत्र जप, गायत्री बालोसा पाठ, मंत्र लेखन प्रारंभ करें।
  • अपने प्रिय परिजनों हेतु मां गायत्री / ईश्वर से करुणा भरे शब्दों में व्यसन मुक्ति हेतु प्रार्थना करें।
  • दवा से कई गुना ज्यादा दुआ का असर होता है। सच्चे दिल से की गई आपकी प्रार्थना अवश्य फलेगी।

इन्हें भी अपनायें ! Nasha mukti ke upay

  • नशा छोड़ने के लिए व्यसन मुक्ति चूर्ण, हरि रस, निर्दोष प्रज्ञा पेय तुलसो, सौंफ
  • अदरक, लौंग, कालीमिर्च आदि का प्रयोग करें।
  • सौंफ 100 ग्राम, अजवायन 100 ग्राम, सैंधा नमक 30 ग्राम में दो नींबू का रस मिलाकर
  • इन्हें कुरकुरा भून कर रख लें। व्यसन की तलब होने पर थोड़ा-थोड़ा लें ।
  • गहरी सांस ले प्राणायाम करें, व्यायाम, मालिश आदि करें। नित्य सुबह टहलने जायें।
  • मुख में सौंफ, इलायची, पिपरमेंट आदि रख लें। अधिक तलब लगे तो चॉकलेट मुँह में रख लें।
  • कच्ची सब्जियाँ, सलाद, टमाटर, व फलों का प्रयोग करें।
  • प्यास की सी तलब होने पर एक-एक घूंट करके पानी को मुख में काफी अधिक समय तक रखने के बाद पीयें।
  • दाँतों पर जमने वाले निकोटीन को हटाने के लिए हर भोजन के बाद ब्रश करें।

उपरोक्त सूत्रों Nasha mukti ke upay पर अमल करने के बाद आप अपने नशे से स्वयं मुक्त हो सकते हैं बशर्ते कि आपकी स्वयं की इच्छा शक्ति होनी चाहिए। अन्यथा आपके ना चाहने पर कोई भी दवा, दुआ या उपचार आपके किसी काम का नहीं होगा और यह मनुष्य का दुर्लभ जीवन व्यर्थ ही नष्ट हो जाएगा । अतः जीवन का आनंद लेने के लिए नशे से स्वयं को मुक्त रखें और मानव जीवन का लाभ उठाएं । अन्यथा 8400000 योनियों में घूमने के बावजूद भी मानव जन्म मिलना दुर्लभ होता है।

http://Indiantreasure. in

https://youtu.be/r35bDQAziZY

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!