Total Post View :- 442

Mint Water ; बनाना आसान फायदे अनेक

Mint water ; गर्मियों में मिंट वाटर ( mint water ) पीने के बहुत फायदे हैं। ये भीषण गर्मी में होने वाली बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता है। आज हम आपको मिंट वाटर ( mint water benefits और इसे पीने के सही तरीका बताएंगे।

मिंट क्या है? मिंट वाटर क्या है? इसे कौन पी सकता है? इसे कब पिया जाना चाहिए? व इसे कितना पीना चाहिए? जैसे सभी प्रश्नों के उत्तर आपको यहां मिलेंगे। तो चलिए बिना देर किए जानते हैं मिंट वाटर क्या है ?

मिंट क्या है? What Is Mint?

मिंट एक खुशबूदार वनस्पति है। जो बारह महीने उपलब्ध होती है। मिंट का हिंदी नाम पुदीना है।

इसका वानस्पतिक नाम मेंथा एवरेसिस/ मेंथा स्पाइकेटा/ स्पियर मिंट है। इसकी अलग अलग प्रजाति होती हैं।

मिंट को घर पर कैसे उगाएं?

यह बहुत ही आसानी से उगाया जा सकता है। बाजार में मिलने वाली पुदीना की पत्तियों में से मोटा तना लें। इस तने में ऊपर की दो पत्ती छोड़कर सभी पत्ते हटा दें। अब अच्छी तरह धोकर मिट्टी में गड़ा दें।

आपका पुदीना/मिंट कुछ ही दिनों में लग जायेगा। यह बहुत ज्यादा फैलता है। पानी वाली जगह में बहुत जल्दी होता है।

मिंट वाटर क्या होता है?

मिंट वाटर बनाना बहुत ही आसान है । इसे बनाने के लिए मिंट की कुछ पत्तियां लेकर अच्छी तरह धो लें। एक गिलास पानी को तेज गर्म कर ले।

पानी को गैस से उतार लें। उसमें मिंट की पत्तियां डालकर ढक कर रख दें। 1 घंटे बाद यह मिंट वाटर तैयार हो जाता है। इसे ठंडा करके पी लें।

इसका दूसरा तरीका यह है ; कि मिंट की पत्तियां लेकर उसे अच्छी तरह धो लें। अब एक गिलास पानी में इन्हें डालकर रात भर के लिए रख दें। रात भर में मिंट का डिटॉक्स वॉटर तैयार हो जाता है। इसे ही मिंट वाटर कहते हैं।

Mint water के फायदे क्या है

  • यह तनाव को कम करता है
  • ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करता है।
  • पेटदर्द, जी मिचलाना, उल्टी, दस्त में राहत पहुंचाता है।
  • डाइजेस्टिव सिस्टम को ठीक करता है।
  • शरीर की गर्मी को शांत करता है।
  • गर्मियों में गर्म हवा से होने वाले ज्वर (लू) से बचाव करता है।
  • मस्तिष्क और आंखों को तरावट/ठंडक पहुंचाता है।
  • मुंह की बदबू दूर करता है।
  • त्वचा रोगों में लाभप्रद है।
  • कब्ज, अपच में बहुत फायदेमंद है।
  • पेट मे जलन, एसिडिटी व सीने की जलन को शांत करता है।

Mint water पीने का सही तरीका क्या है?

यह एकदम निरापद है। इसे बच्चे, बूढ़े, जवान सभी उम्र के लोग पी सकते हैं। यह एक वनस्पति अर्क है। यह बहुत ही फायदेमंद होता है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और फाइटोन्यूट्रिएंट्स गुण मौजूद होते हैं।

मिंट वाटर को सुबह दोपहर शाम कभी भी पिया जा सकता है। इसकी अधिक मात्रा नुकसान नहीं करती। इसे आराम से प्यास बुझाने के लिए उपयोग कर सकते हैं।

संक्षेप

Mint water ; बनाना आसान फायदे अनेक से सम्बंधित लेख आपको अवश्य पसंद आया होगा। इस जानकारी का लाभ उठाकर आप गर्मियों का आनन्द ले सकते हैं।

पीने के पानी के घड़े में मिंट की पत्तियां डालकर, आसान तरीके से Mint water का आनन्द लें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!