Total Post View :- 493

Makhana ; 50 की उम्र में भी रहें यंग, डाइट में शामिल करें मखाना

Makhaana ; 50 की उम्र के बाद ही उम्र का दिखना शुरू हो जाता है। लेकिन यदि आप 50 की उम्र में भी यंग दिखना चाहते हैं तो आज ही से मखाना ( makhana) को अपनी डाइट में शामिल कर लें ।

आज हम आपको मखाना से जुड़े हुए ऐसे अद्भुत तथ्य बताएंगे । जिन्हें जानकर आप मखाना (makhana) के फैन हो जाएंगे ।

मखाना स्नेक्स ही नहीं बल्कि हमारे शरीर का रक्षक भी है। जो समय से पहले बुढ़ापे को रोकता है। इतना ही नहीं यह उम्र के अनुसार होने वाली कमजोरियों को भी दूर करने में सक्षम होता है।

आज हम आपको बताएंगे कि मखाना (makhana) क्या होता है ? उसके क्या फायदे हैं? तो चलिए बिना देर किए शुरू करते हैं।

मखाना (makhana) क्या है?

मखाना एक बहुत ही पवित्र फल है। यह कमल के फूल से उत्पन्न होता है । कमल का फूल माता रानी को लक्ष्मी माता को चढ़ाया जाता है ।

जिस तरह मां लक्ष्मी को कमल का फूल पसंद होता है। उसी तरह माता को मखाना (makhana) भी बहुत पसंद आता है।

यदि आप लक्ष्मी जी को मखाने का भोग लगाते हैं। तो यह उनके लिए सर्वप्रिय भोग होता है । आइए जानते हैं मखाना के अद्भुत गुणों के बारे में।

मखाना (makhana) के गुण

  • मखाना पानी में होता है। इस की तासीर ठंडी होती है।
  • यह अत्यंत हल्का व सुपाच्य होता है। इसे उपवास में खाया जाता है।
  • मखाने में कैल्शियम, मैग्नीशियम, प्रोटीन और आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।
  • इसमें एंटीऑक्सीडेंट एवं एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं ।
  • यह हेल्दी फैट, फॉस्फोरस, विटामिंस और कैलोरी से भरपूर होता है।
  • यह ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है। डायबिटीज में फायदेमंद होता है।
  • हड्डियों को मजबूत बनाता है। गठिया जैसे रोगों में बहुत लाभदायक होता है।
  • मखाना बहुत ताकतवर होता है।

मखाना कैसे खाना चाहिए

  • मखाना को नमकीन व मीठा दो तरह से खाया जा सकता है।
  • नमकीन मखाने बनाने के लिए इसे घी में धीमी आंच में फ्राई करते हैं। जिससे यह कुरकुरा हो जाता है। अब इसमें उपवास का नमक मिलाकर खाया जाता है।
  • नमकीन मखाना (makhana) स्नैक्स की तरह बहुत ही अच्छा लगता है।
  • मीठा मखाना खाने के लिए इसे दूध में डालकर खाते हैं।
  • मखाने की सब्जी भी बनती है ।
  • मखाने से बहुत व्यंजन बनाए जाते हैं । मिठाइयों में मखाने का प्रमुख स्थान है ।
  • गर्भवती स्त्री को प्रसव के बाद मखाना गुड़ मेवा के लड्डू खिलाते हैं।
  • शरीर में ताकत पैदा करने के लिए मखाने का उपयोग किया जाता है ।

मखाना कब व कितनी मात्रा में खाना चाहिए।

  • मखाना खाने का सही समय सुबह खाली पेट होता है। इस समय 4 से 5 मखाना खाना चाहिए।
  • यह चार पांच मखाना आपके लिए वरदान साबित होता है। यह हड्डियों को मजबूत करता है।
  • इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक गुणों के कारण यह शरीर में नई स्फूर्ति लाता है।
  • यह वृद्धावस्था के लक्षणों को रोकता है।
  • 50 वर्ष की उम्र के बाद शरीर में वृद्धावस्था के लक्षण दिखाई देने लगते है।
  • ऐसे में सुबह खाली पेट 5 मखाना खाना चाहिए। इससे स्किन ग्लो करती है।
  • बुढ़ापे के लक्षणों को दूर करता है मखाना (makhana).
  • यह शरीर में आयरन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट आदि की कमी को भी पूरा करता है।
  • जिसके कारण शरीर स्वस्थ और मजबूत बना रहता है , और हम यंग दिखाई देते हैं।

अंत में

अभी आपने अद्भुत और चमत्कारी मखाना के बारे में जाना । मखाना में मौजूद आवश्यक पोषक तत्व 50 की उम्र में भी आपको यंग बनाए रखते हैं ।

आज से ही अपनी डाइट में मखाना को अवश्य स्थान दें। हमारे द्वारा प्रस्तुत मखाना से संबंधित यह लेख आपको अवश्य पसंद आया होगा । इसे पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद !

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!