Anti ageing soup recipe Total Post View :- 657

Budhape ka lakshan ! Aur anti ageing soup recipe!

Budhape ka lakshan ! Aur Anti ageing soup recipe ; हमेशा यंग दिखने के लिए अवश्य बनाएं सूप। बुढ़ापा किसी को भी अच्छा नहीं लगता। किंतु आश्चर्य की बात है कि बुढ़ापा आता सभी को है । ऐसे में बुढ़ापे के लक्षणों को पहचानते हुए यदि आप सतर्क हो जाते हैं और उसे रोकने के उपाय करते हैं, तो आप लंबे समय तक बुढापे को रोक सकते हैं।

आज बुढ़ापे से संबंधित बहुत सी ऐसी जानकारी जिसे हम जानते तो है किंतु व्यस्तता के कारण भूल जाते हैं। यही कारण है कि हम समय से पहले बूढ़े दिखने लगते हैं। उसके लिए बुढ़ापे के कुछ लक्षणों को पहचानना बहुत ही जरूरी है। तो आज हम आपको बुढ़ापे के लक्षण और बुढ़ापा रोकने के लिए Budhape ka lakshan ! aur Anti ageing soup recipe बताएंगे। अतः इसे अवश्य ध्यान से पढ़ें।

Budhape ka lakshan !

बुढ़ापा जीवन की एक परिपक्व अवस्था है । जो अपने आप में एक खूबसूरती लिए हुए होती है ।

किंतु लापरवाही के कारण हम बहुत सी तकलीफों को आमंत्रित कर लेते हैं।

और बुढ़ापे का मतलब आनंद ना हो करके तकलीफ हो जाता है ।

आज बुढ़ापे के इन्हीं लक्षणों की हम चर्चा करते हैं और इसे दूर करने का प्रयास करते हैं ।

Budhape ka pahala lakshan !

चेहरे का तनाव व चिड़चिड़ापन बुढ़ापे का पहला लक्षण है। जो आपके चेहरे से दिखता है।

यह है Budhape ka पहला lakshan !

आपने देखा होगा कि बच्चे बहुत ही खूबसूरत लगते हैं जबकि किसी प्रकार का कोई मेकअप ही नहीं करते।

ऐसा इसलिए होता है कि बच्चों के चेहरे पर एक प्राकृतिक मुस्कुराहट हमेशा बनी रहती है ।

यही मुस्कुराहट आपके बुढ़ापे को आपसे दूर करती है।अतः एक हल्की सी मुस्कुराहट हमेशा चेहरे पर बनाए रखें

यह ना सोचें कि जब कोई आप को देखेगा तब आप मुस्कुराएंगे ।

मुस्कुराने का मतलब है ओंठों की एक ऐसी अवस्था जिसमें ओंठ हल्के से फैले हुए होते हैं।

आंखें अच्छी तरह खुली हुई होती हैं

Budhape ka dusara lakshan !

बुढ़ापे का दूसरा लक्षण है आंखों का सिकुड़ जाना या भवों का आइब्रो का सिकुड़ा हुआ होना।

अतः अपनी आंखों को हमेशा पूरी तरह खोल कर रखें और आइब्रोज उठी हुई और तनी हुई अवस्था में रखना चाहिए।

इससे आखों के नीचे वाली झुर्रियां नहीं आ पाती और आंखों के किनारे पड़ने वाले क्रो फ़ीट भी नहीं बनते हैं ।

यह मुद्रा भी आपको आपके बुढ़ापे से दूर करती है

Budhape ka teesara lakshan !

तीसरा और सबसे महत्वपूर्ण Budhape ke lakshan ! है माथे पर पड़ने वाली शिकन या झुर्रियां ।

यह अनायास ही आप की बढ़ती हुई उम्र को बता देती हैं। अतः बात करते समय, पढ़ते समय, काम करते समय,

इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आपके चेहरे पर, माथे पर किसी भी प्रकार की कोई शिकन न आने पाए ।

इस प्रकार आप अपने चेहरे से बुढ़ापे के लक्षणों को केवल अपनी कुछ आदतों में सुधार करके, हमेशा हमेशा के लिए

दूर कर सकते हैं। आपने देखा होगा कि हंसता हुआ बुढ़ापे का चेहरा भी बहुत ही खूबसूरत लगता है,

जबकि रोता हुआ युवावस्था का चेहरा भी दयनीय और बूढ़ा दिखाई देता है।

इसीलिए जवान बने रहने के लिए हमेशा मुस्कुराते रहिए और तनाव रहित जीवन जीने का प्रयास करिए।

Budhape ka chautha lakshan !

इसके अलावा घुटनों का दर्द भी वृद्धावस्था की निशानी मानी जाती है ।

बुढ़ापे में जोड़ों के भीतर मौजूद लुब्रिकेशन या ग्रीस समाप्त होने लगता है।

जिससे उठने बैठने, चलने फिरने में तकलीफ होने लगती है। और जोड़ों में दर्द हमेशा बना रहता है।

Budhape ka paanchvaan lakshan !

सामान्यतः बालों का सफेद होना भी बुढ़ापे की निशानी होती है।

किन्तु आजकल पोषक तत्वों की कमी के कारण कम उम्र में ही बल सफेद हो रहे हैं।

किन्तु बढ़ती उम्र में बालों की सफेदी भी आपके बुढ़ापे की ओर ध्यान आकर्षित करती है।

ऐसे में यह एंटी एजिंग सूप रेसिपी आपको बहुत मदद करेगी और Budhape ke lakshan ! को हमेशा के लिए बाय-बाय कह देंगे।

आइए जानते हैं anti ageing soup कैसे बनाते हैं और इसका उपयोग कैसे करना है।

Anti ageing soup recepi

यह तो बुढ़ापे के बाहरी लक्षण है जिन्हें हम अपने नियंत्रण में ला सकते हैं ।

किन्तु कुछ अंदरूनी लक्षण भी होते है जो पोषक तत्व की कमी से होते हैं।

जिनकी कमी से बुढ़ापा जल्दी आने लगता है। ऐसी स्थिति में आज हम आपको एंटी एजिंग सूप रेसिपी बताएंगे ।

जो घर में ही उपलब्ध सभी सामग्रियों से बनाई आसानी से बनाई जा सकती है ।

और इसका प्रयोग करना भी बहुत ही आसान है। इसे सभी वर्ग के लोग कर सकते हैं।

क्योंकि यह बुढ़ापा को दूर करने वाला सूप है अतः निश्चित है कि इससे 18 वर्ष से ऊपर ही आवश्यकता पड़ेगी।

Budhape ke lakshan ! के बारे में अभी आपने पढ़ा कि किस तरह चेहरे पर एजिंग साइन आने लगते हैं।

Anti ageing soup recepie budhape ka lakshan mitaye !

सदा जवान बने रहने के लिए और बुढ़ापे को अपने से दूर करने के लिए एंटी एजिंग सूप का रोजाना इस्तेमाल करें।

यह बिल्कुल निरापद है और लगभग 45 दिन के प्रयोग से ही आप अपने आप में अभूतपूर्व परिवर्तन देखेंगे।

अवश्य बनाएं व उपयोग करें anti ageing soup recepie

इसे बनाने के लिए आपको चार तत्वों की जरूरत होगी जो आपके घर में ही उपलब्ध हो जाएंगे।

मेथी दाना (Fenugreek seeds)

1- मेथी दाना- यह शुगर को कंट्रोल करता है और जो भी हम भोजन करते हैं,

उसमें बनने वाली शुगर की मात्रा को कम करता है तथा वसा को भी काटता है।

यह एक तरह से फैट कटर का काम करता है अतः आधा चम्मच मेथी दाना लेंगे।

पीली सरसों (yellow mustard)

2- दूसरा पीली सरसों यह अत्यंत ही महत्वपूर्ण तत्व है यह जोड़ों के अंदर लुब्रिकेशन को पैदा करता है ।

जिससे घुटनों के दर्द और अन्य जोड़ों के दर्द को दूर करता है।

यह जोडो में उपस्थित ग्रीस या लुब्रिकेशन को बनाए रखता है।

इसके प्रयोग से मांसपेशियों की अकड़न भी दूर होती है और शरीर लचीला बना सकता है।

अतः पीली सरसों भी आधा चम्मच लेंगे।

राई (mustard)

3- राई लगभग सभी घरों में पाई जाती है और इसे घर में छौंक लगाने के कार्य में लिया जाता है।

राई के अंदर ब्लड में उपस्थित विषैले तत्वों को बाहर निकालने की ताकत होती है ।

अतः इसके निरंतर उपयोग करने से ब्लड के अंदर जो विषैले तत्व टॉक्सिंस होते हैं वह खत्म होने लगते हैं ।

और रक्त शुद्ध होता है जिससे शरीर में अनेकों बीमारियां अपने आप ही दूर हो जाती हैं ।

अतः राई को भी आधा चम्मच लेंगे ।

सौंफ (Fennel)

4- सौंफ – सौंफ एक बहुत ही अच्छा ब्यूटी मेकिंग इनग्रेडिएंट्स है।

इससे इसके पानी से चेहरे पर स्प्रे करने से यह चेहरे के पोर्स को सिकुड़ता है तथा स्किन को टाइट भी बनाता है।

सौंफ हारमोंस के उतार-चढ़ाव को संतुलित करती है तथा पाचन को भी दुरुस्त करती है।

अक्सर भोजन करने के बाद मिश्री और सौंफ खाने का चलन है ।

यह पाचन तंत्र को भी दुरुस्त करती है। इस प्रकार यह भी आधा चम्मच लेंगे।

Anti ageing soup recepie

  • उपरोक्त बताए गए चारों चीजों को आधा आधा चम्मच की मात्रा में ले लेंगे।
  • अब इन चारों चीजों को एक खरल में या इमाम दस्ता में कूट लेंगे।
  • इन्हें बारीक करने की आवश्यकता नहीं है । दरदरा ही कूटा जाता है।
  • इन सभी चीजों का पाउडर बनाकर नहीं रखना चाहिए ।
  • प्रतिदिन बनाते समय ही इसे कूटना चाहिए अन्यथा इस में उपस्थित सभी पोषक तत्व उड़ जाते हैं ।
  • और इनका वास्तविक लाभ प्राप्त नहीं होता अतः सही लाभ प्राप्त करने के लिए इन्हें ताजा कूटकर ही उपयोग करें।
  • सभी चीजों को कूटकर रात में एक गिलास पानी में डाल कर भिगा कर रखते हैं।
  • दूसरे दिन सुबह उठकर दो-तीन मिनट उन सभी चीजों के साथ उस पानी को उबाल लें।
  • अब इसे हल्का गुनगुना होने पर बिना मुंह धोए ही पी जाना चाहिए।
  • क्योंकि रात भर में जो मुंह में सलाइवा रहता है उसमें बहुत पोषक तत्व होते हैं।
  • तथा यह पेट के अंदर के सभी कीटाणु को मारने की ताकत रखता है।
  • इसका उपयोग करने से बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता है।
  • किंतु यदि ऐसा करने में आपको दिक्कत होती हो तो मुंह धो कर भी इसे पिया जा सकता है।
  • ऐसा नियमित 45 दिनों तक करने पर आप अपने आप में अद्भुत परिवर्तन पाएंगे।
  • इसका असर आपके चेहरे और शरीर में 7 दिन में दिखना शुरू हो जाता है।
  • इस रेसिपी के उपयोग करने से आपके चेहरे में पड़ने वाली एजिंग लाइन और
  • बालों में आ रहे रूखेपन को नियंत्रित किया जा सकता है।
  • तथा यह जोड़ों में लुब्रिकेशन को सही करता है और जोड़ों के दर्द से भी मुक्ति दिलाता है।
  • अतः एंटी एजिंग सूप रेसिपी । Budhape ke lakshan ! को हमेशा हमेशा के लिए दूर कर देती है ।

http://Indiantreasure. in

https://youtu.be/kuW-SzuQfLg

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!