वैशाख माह में दान किन वस्तुओं का करना चाहिए ! Which items should be donated during the month of Vaishakh! ! Total Post View :- 1191

वैशाख माह में दान किन वस्तुओं का करना चाहिए !

वैशाख माह में दान का बड़ा महत्व है क्योंकि यह मास भगवान विष्णु को अत्यंत प्रिय है। इसे माधव मास भी कहते हैं।

दान करने से धन की शुद्धि होती है अतः प्रत्येक व्यक्ति को हमेशा ही कुछ न कुछ दान अवश्य करना चाहिए।

धन कमाने के तरीके या धन कमाने के साधनों से कई बार दूसरों को अनजाने में ही बहुत तकलीफ पहुंचती है।

अनजाने में दूसरों के प्रति किये गए अपराध से मुक्ति का एकमात्र उपाय जरूरतमंद को दान देना है।

आज प्रत्येक व्यक्ति बड़ी मुश्किलों से जूझ रहा है ऐसे में एकदूसरे का सहयोग कर अपने धन व मन की शुद्धि करें।

वैशाख माह शुरू हो चुका है इसलिये यह जानना बहुत जरूरी है कि इस माह में क्या करें।

आइये आज आपको बताते हैं कि वैशाख माह में किन किन वस्तुओं का दान करना चाहिए।

वैशाख माह का महत्व Importance of Vaishakh month

स्कंदपुराण में बताया गया है कि –

न माधवसमो मासो न कृतेन युगं समम् ।

न च वेदसमं शास्त्रं न तीर्थं गंगया समम् ॥

  • अर्थात वैशाख मास के समान कोई मास नही हैं, सत्ययुग के समान कोई युग नहीं है। वेद के समान कोई शास्त्र नही है और गंगा के समान कोई तीर्थ नहीं है।
  • वैशाख मास किया गया दान शीघ्र फलित होता है किन्तु दान किसी फल की आशा से नहीं किया जाना चाहिए।

वैशाख माह में किन वस्तुओं का दान करना चाहिए? Which items should be donated in the month of Vaishakh?

  • वैशाख माह में धूप तेज होती है अतः इस माह में शीतलता प्रदान करने वाली वस्तुओं का दान किया जाता है।
  • आइये क्रमशः दान दिए जाने वाली वस्तुओं को जानें, जिसमे सर्वोपरि जलदान है।

1- वैशाख माह में जल दान का बहुत महत्व है!

  • वैशाख माह में जल दान करने की विशेष महिमा बताई गई है इतना ही नहीं यदि हम इस दान के विषय में किसी को प्रेरित भी करते हैं तो भी उसका वही पुण्य प्राप्त होता है।
  • मार्ग में प्याऊ लगाना प्रपादान कहलाता है यह देवताओं, पितरो तथा ऋषियों को अत्यंत प्रिय होता है ।
  • इतना ही नही पशु पक्षियों के लिए भी पीने के पानी की व्यवस्था करना भी जलदान कहलाता है।
  • धूप और गर्मी से राहत देने वाले उपकरण जैसे छाता पंखा पादुका या चप्पलें तथा विश्राम शाला आदि का दान अक्षय पुण्य प्रदान करता है।

वैशाख माह में अक्षय तृतीया को दान!Donation to Akshaya Tritiya in Vaishakh month!

  • वैशाख माह में अक्षय तृतीया के दिन दान करने का विशेष महत्व है इस तिथि को किया गया दान अक्षय हो जाता है।
  • सुंगंधित जल से भरा हुआ घड़ा जिसे धर्मघट कहते हैं को वैशाख में दान देने का काशीखंड़, हेमाद्रि दानखंड़ आदि में बहुत महत्व बताया गया है।

जल दान मंत्र! Water donation mantra !

  • जल दान करते समय निम्न मंत्र का उच्चारण करना चाहिए

उदकुम्भो मया दत्तो ग्रीष्मकाले दिने दिने ।

शीतोदकप्रदानेन प्रीयतां मधुसूदनः ॥

  • इसी तिथि से त्रेता युग का प्रारंभ हुआ था और इसी दिन भगवान परशुराम जी का जन्म भी हुआ था।

2- मेष की संक्रांति में या पूरे मास करें सत्तूदान! Perform Sattudan on Aries sankranti or whole month.

  • मेष की संक्रांति या वैशाख मास में प्रतिदिन जौ के सत्तू का तथा जल का दान अवश्य करना चाहिए । यदि सत्तू न हो तो खड़े जौ का भी दान किया जा सकता है ।
  • सत्तू दान करते हुए निम्न मंत्र का उच्चारण करने से दान फलीभूत होता है।

सत्तू दान मंत्र !Sattu Daan Mantra!

सत्तू का दान करते समय निम्न मंत्र बोलें

सक्तवो धर्मदा नित्यं ब्रह्मणः प्रीतिकारकाः ।

त्वद्दानान्मम दुष्कर्मक्षयोऽस्तु सुखमस्तु मे ॥

प्राजापत्या यतः प्रोक्ताः सक्तवो यज्ञकर्मणि ।

तस्मादेषां प्रदानेन प्रीयतां मे प्रजापतिः ॥

3- पंखे का दान अवश्य करें। Make a donation of a fan.

  • वैशाख शुक्ल पक्ष तृतीया अर्थात अक्षय तृतीया को और विशेषकर पूर्णिमा को पंखे का दान अवश्य करना चाहिए।
  • बांस के पंखे कपड़े से बने पंखे या किसी भी रूप में शीतल हवा प्रदान करने वाले उपकरण दान करें
  • अपनी सामर्थ्य के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को पूरे वैशाख माह में प्रतिदिन कुछ दान अवश्य करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें – कलियुग में दान कैसे करें?

पंखा दान करने का मंत्र ! Fan donation mantra!

पंखा दान करते समय निम्न मंत्र का उच्चारण करना चाहिए ,

व्यजनं वायुदैवत्यं ग्रीष्मकाले सुखप्रदम् ।

अस्य प्रदानात् सफला: मम सन्तु मनोरथाः ॥

4- वैशाख माह के विविध दान ! Miscellaneous donations for the month of Vaishakh!

  • शीतलता प्रदान करने वाली वस्तुओं में धूप से बचने के लिए छाते का दान भी किया जाना चाहिए इतना ही नहीं मट्ठा तथा आम का पना, शरबत आदि का दान भी वैशाख मास में विशेष पुण्यकारी होता है।
  • दान तो प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी रूप में अवश्य करता है किंतु विधि पूर्वक किया गया दान देवता ऋषि और पितर ग्रहण करते हैं।
  • इस प्रकार विधि पूर्वक किया गया दान फलदाई होता है जिससे हमारे धन की, मन की और आत्मा की शुद्धि होती है।

अंत में वैशाख माह में किए जाने वाले सभी प्रकार के दान उनके मंत्रों के साथ बताया गया है ।

यह जानकारी निश्चित ही आपको विशेष पुण्य लाभ कराने में समर्थ है।

स्वयं दान करना व दान करने के लिए प्रेरित करना भी दान करने के बराबर ही पुण्य कार्य है।

वैशाख माह की स्नान दान जप पूजा विधि की जानकारी हेतु देखें।

https://youtu.be/NCPRXE3Gq7M

अतः वैशाख माह में दान से संबंधित यह उपयोगी जानकारी अपने मित्रों व परिजनों को भी प्रेषित करें।

ऐसी ही अन्य रोचक और उपयोगी जानकारी के लिए हमारे लिंक पर अवश्य आएं

http://Indiantreasure. in

Spread the love

4 thoughts on “वैशाख माह में दान किन वस्तुओं का करना चाहिए !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!