वाशिंग मशीन के वास्तु टिप्स ; कौन सी दिशा में रखें वाशिंग मशीन ! Total Post View :- 14341

वाशिंग मशीन के वास्तु टिप्स ; कौन सी दिशा में रखें वाशिंग मशीन !

वाशिंग मशीन के वास्तु टिप्स ; कौन सी दिशा में रखें वाशिंग मशीन ! आज हम उन्हीं के बारे में चर्चा करेंगे। प्रत्येक दिशा एक एनर्जी लिए हुए होती है। जब हम उस दिशा की एनर्जी से संबंधित वस्तु को वहां पर रखते हैं, तो उस दिशा का सकारात्मक प्रभाव हमारे जीवन पर पड़ता है।

वहीं अगर दिशाओं का उपयुक्त ज्ञान ना हो तो ऐसे में गलत स्थान पर गलत चीज के रखने से, उसके नकारात्मक प्रभाव भी हमारे जीवन को प्रभावित करते हैं। दिशाओं की एनर्जी का ज्ञान और उसका उपयोग ही वास्तु शास्त्र है।

वास्तुशास्त्र में घर में रखी हुई प्रत्येक चीज की एक नियत दिशा बताई गई है। आज हम जानेंगे कि वॉशिंग मशीन को घर पर किस दिशा में रखना शुभ फलदाई होता है और कौन सी दिशा बहुत ही हानिकारक प्रभाव को हमारे जीवन पर छोड़ती है।

वाशिंग मशीन के उपयोग हेतु वास्तुशास्त्र के नियम!

  • वाशिंग मशीन के उपयोग हेतु वास्तु शास्त्र अनुसार कुछ नियम बताए गए हैं जिनका पालन कर हम अपने जीवन में सुधार ला सकते हैं।
  • बताए गए नियम के अनुसार गंदे कपड़े कभी भी मशीन में रात भर पानी में भिगोकर नहीं रखना चाहिए ।
  • इससे नकारात्मक शक्तियां प्रभावशाली होने लगती है और व्यक्ति का मूड खराब रहता है ।
  • और ऐसे घर में रहने वाले प्रत्येक सदस्यों को थोड़ी-थोड़ी बात में गुस्सा आता है और वे चिड़चिड़े स्वभाव के हो जाते हैं।
  • गंदा पानी मशीन में भरकर कभी ना रखें इसे नाली में बहा दें अन्यथा घर में नकारात्मकता फैल जाती है।
  • कई बार लोग वाशिंग मशीन से बचे हुए पानी का उपयोग फर्श धोने या अन्य किसी काम में ले आते हैं ।
  • यह बहुत ही खतरनाक होता है इससे घर में तनाव और कलह का वातावरण पैदा होता है।
  • घर में छोटी-छोटी बातों में लड़ाई झगड़ा होने लगते हैं और नकारात्मकता का प्रसार होता है।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि वॉशिंग मशीन खराब हो जाए तो उसे तत्काल सुधरवाकर उपयोग में लें ।
  • या घर से अलग कर देना चाहिए क्योंकि टूटी फटी इलेक्ट्रिक चीजों में राहु का प्रभाव होता है
  • और इन चीजों में नकारात्मक शक्तियों का वास हो जाता है।
  • इसीलिए जल्द से जल्द ऐसी चीजों को घर से अलग कर देना चाहिए।

वास्तु शास्त्र और वॉशिंग मशीन की नकारात्मक दिशा!

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार वॉशिंग मशीन के लिए कुछ दिशाएं नकारात्मक प्रभाव देती हैं और कुछ शुभ फलदाई होती है।
  • आइए जानते हैं वाशिंग मशीन के वास्तु टिप्स , वे कौन सी दिशाएं है जो वाशिंग मशीन के लिए नकारात्मक परिणाम देती हैं ।

उत्तर-पूर्व / ईशान कोण में वाशिंग मशीन कभी ना रखें!

  • घर या भवन के देवता अर्थात वास्तु देवता का सर उत्तर-पूर्व या ईशान कोण में होता है।
  • इस दिशा में वाशिंग मशीन रखने से वास्तु देवता को सर में तकलीफ होती है।
  • जिस से कुपित होकर वह ऐसी ही परेशानी घर के सदस्यों को देते हैं।
  • इस अवस्था में व्यक्ति को कोई भी आराम नहीं मिलता और हमेशा दिमाग में परेशानी बनी रहती है ।
  • घर में कलह होता है घर के बच्चे भी बड़ों के बात नहीं मानते और मनमानी प्रकृति के हो जाते हैं।
  • वे अपने संस्कारों को भूलने लगते हैं। इस दिशा में भूल कर के भी वॉशिंग मशीन नहीं रखना चाहिए।

उत्तर दिशा और पूर्व दिशा में वाशिंग मशीन हेतु वास्तुशास्त्र के नियम!

  • यह दोनों दिशाएं जल तत्व से संबंधित है।
  • अग्नि तत्व से संबंधित इलेक्ट्रिक यंत्र वाशिंग मशीन इस दिशा में रखने से बड़ा ही विपरीत असर डालती है।
  • उत्तर दिशा में वाशिंग मशीन कैरियर में बाधा उत्पन्न करती है तथा व्यक्ति का मन अस्थिर रहता है ।
  • और हमेशा क्या करें क्या ना करें कि स्थिति में झूलता रहता है।
  • व्यर्थ की बातों में उलझे रहने के कारण अपने लक्ष्य पर ध्यान नहीं दे पाता।
  • अतः उत्तर दिशा में वाशिंग मशीन नहीं रखनी चाहिए।
  • पूर्व दिशा में रखी हुई वॉशिंग मशीन से घर के सदस्यों का स्वास्थ्य हमेशा ही बिगड़ा रहता है।
  • तथा किसी न किसी बीमारी में धन खर्च होता रहता है। अतः पूर्व दिशा में भी वाशिंग मशीन नहीं रखनी चाहिए।

दक्षिण व दक्षिण-पश्चिम दिशा और वास्तुशास्त्र के नियम !

  • दक्षिण व दक्षिण पश्चिम-दिशा में कभी भी पानी का स्थान नहीं होना चाहिए ।
  • अन्यथा घर में रहने वाले सदस्यों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ता है।
  • यश कीर्ति भी धूमिल होने लगती है कोई भी आप पर भरोसा नहीं करता तथा सम्मान में कमी आने लगती है।
  • अतः दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम दिशा भी मशीन के लिए उपयुक्त नहीं मानी गई है।

घर के मध्य या ब्रह्म स्थान में मशीन हेतु वास्तुशास्त्र के नियम!

  • घर का मध्य या ब्रह्म स्थान हमेशा खाली रखा जाता है या वह पूजा का स्थान होता है ।
  • इस स्थान में मशीन रखने से बीमारियां होती है। तथा पेट और रीड की हड्डी की बीमारी होती है ।
  • अतः भूल कर भी मध्य या ब्रह्मा स्थान में वॉशिंग मशीन नहीं रखनी चाहिए।

वास्तु शास्त्र और वाशिंग मशीन केेेे लिए सकारात्मक दिशा !

  • दक्षिण-पूर्व दिशा – अग्नि तत्व केेेेे लिए यह दिशा उत्तम मानी गई है।
  • इस दिशा में वाशिंग मशीन रखने से घर के सदस्यों को ऊर्जा मिलती है।
  • आत्मविश्वास बढ़ता है सभी कार्यों में सफलता प्राप्त होती है और प्रत्येक कार्य पूर्ण होते हैं।
  • इस दिशा में रखी गई मशीन जल्दी खराब नहीं होती।
  • अतः वॉशिंग मशीन के लिए दक्षिण पूर्व दिशा अत्यंत उपयुक्त मानी गई है।
  • उत्तर-पश्चिम दिशा ; यह दिशा भी वाशिंग मशीन के लिए उत्तम मानी गई है।
  • इस दिशा में मशीन रखने सेे लोगों अच्छे संबंधित रहते हैं तथा सभी आपका कहा मानते हैं सब तरफ सेे आपको मदद मिलती है ।
  • अतः यह दिशा भी वास्तु शास्त्र के अनुसार वाशिंग मशीन के लिए उपयुक्त दिशा मानी गई है।
  • पश्चिम दिशा ; यदि ऊपर बताई दोनों दिशाओं में मशीन की व्यवस्था ना हो सके तो इसेेे पश्चिम दिशा में भी रखा जा सकता है।
  • यह भी शुभ फलदाई होती है।

इस प्रकार वास्तु शास्त्र के नियम और उपाय अपनाकर, सही दिशा का चयन करते हुए, हम दिशाओं से प्राप्त एनर्जी को ग्रहण कर जीवन में उन्नति कर सकते हैं।

वाशिंग मशीन के वास्तु टिप्स संबंधी लेख आपको अच्छा लगा हो तो अवश्य शेयर करें।

ऐसी ही रोचक जानकारियों के लिए देखते रहे आपकी अपनी वेबसाइट

http://Indiantreasure. in

संबंधित लेख भी अवश्य पढ़ें

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!