योगनिद्रा क्या है ? फायदे व क्रियाविधि! Total Post View :- 11542

योग निद्रा से दूर करें तनाव ! योग निद्रा क्या है ? फायदे व क्रियाविधि!Relieve stress with Yoga nidra! What is Yoga nidra? Benefits and mechanism!

 

       योग निद्रा की स्थिति

आप जानते हैं योग निद्रा क्या है फायदे व क्रियाविधि के बारे में। आइए आज आपको इस जीवनोपयोगी विषय से अवगत कराते हैं।

  • आज लगभग प्रत्येक घर में एक न एक सदस्य अनिद्रा रोग से पीड़ित है।
  • तथा हर घर में किसी ने किसी व्यक्ति को किसी न् किसी बीमारी ने घेरा होगा ।
  • आज इस लेख से आपकी 90 प्रतिशत बीमारियों का इलाज हो जाएगा।
  • मैंने योग निद्रा को स्वयं तथा कुछ लोगों पर प्रयोग करने के पश्चात उसके लाभ प्रत्यक्ष अनुभव किये हैं।
  • यही लाभ और अनुभव आप तक पहुंचाने के लिए यह योग निद्रा से संबंधित जानकारी आप तक प्रेषित कर रही हूं
  • बिना समय गवाएं सबसे पहले हम योगनिद्रा की तैयारी करते हैं ।

इस आर्टिकल में आप पाएंगे –

  • योग निद्रा क्या है !
  • अनियंत्रित दिनचर्या के दुष्प्रभाव !
  • क्या है योग निद्रा की क्रियाविधि !
  • योग निद्रा के फ़ायदे !

जानिए योग निद्रा क्या है ? इसके क्या फायदे हैं? योग निद्रा से दूर करें तनाव! Know what is sleeplessness? What are its benefits? Relieve stress with Yoganidra!

  • योग निद्रा जैसे शब्द से ही स्पष्ट है- योग + निद्रा । ऐसी निद्रा जो हमें योग की स्थिति में ले जाती है।
  • अर्थात ध्यान की स्थिति में ले जाती हो, वह निद्रा योग निद्रा कहलाती है ।जो जीवन के तनावों को दूर करती है।
  • इसका अभ्यास कुल 15 या 20 मिनट का होता है। जिसे करने के पश्चात आप शरीर में हल्कापन महसूस करेंगे।
  • अपने मस्तिष्क में 10 घंटे की भरपूर नींद का आनन्द प्राप्त कर सरलता महसूस करेंगे।
  • अब यही नहीं , यदि आप सोते समय , सोने के पूर्व योगनिद्रा का अभ्यास करके सोते हैं ।
  • तो आपको आने वाली नींद, जितने भी घंटे आप सोते हो, वह संपूर्ण घंटे ध्यान में परिवर्तित हो जाते हैं ।
  • इस प्रकार आप सोते हुए भी ध्यान की स्थिति में चले जाते हैं। और छह से आठ घंटा जितनी भी आप नींद लेते हैं।
  • यह समझें कि इतनी देर आप ध्यान की स्थिति में रहते हैं।
  • आज प्रत्येक मनुष्य दिन भर बल्कि 24 में से 20 घंटे इतना ज्यादा व्यस्त रहता है,
  • कि स्वयं के लिए भी समय निकाल पाना बहुत मुश्किल है। योगनिद्रा क्या है फायदे व क्रियाविधि जानने के लिए आगे पढ़ें।

योग निद्रा से दूर करें अनियंत्रित दिनचर्या के दुष्प्रभाव ! क्या है फायदे ?Remove the side effects of uncontrolled routine from Yoga nidra! What is the benefit?

  • आज की दिनचर्या , ऐसी हो चुकी है कि खाना पीना सोना जगना सब कुछ अनियंत्रित सा अनिश्चित सा हो गया है ।
  • ऐसी स्थिति में मानसिक और और शारीरिक थकान बढ़ जाती है ।
  • यदि हम योग निद्रा का प्रयोग करते हैं तो अपने जीवन में सुकून और चैन वापस प्राप्त कर सकते हैं ।
  • दूसरा नींद भरपूर ना होने से मानसिक और शारीरिक अस्वस्थता के कारण , अनेक बीमारियां हमें घेर लेती हैं ।
  • जैसे ब्लड प्रेशर ,शुगर ,हार्टअटेक , ब्रेन से संबंधित बीमारियां , डिप्रेशन, अवसाद आदि सारी बीमारियां ।
  • तरह तरह की शारीरिक दर्द यह सभी हमें घेर लेते हैं और इन सब दर्द से कोई भी व्यक्ति अछूता नहीं है।
  • फिर हम मेडिसन के लिए डॉक्टरों के पास दौड़ते हैं । जबकि यदि हम अवलोकन करें तो,
  • हमारी दिनचर्या में हमारे पास ही इन चीजों का इलाज मौजूद होता है।
  • योगनिद्रा एक ऐसा ही अचूक इलाज है । जो कम से कम 90 बीमारियों का इलाज कर सकता है।
  • अतः निश्चिंत हो कर के आप योग निद्रा को अपने जीवन में अपनाएं।
  • जिससे आप स्वयं स्वस्थ एवं सुखी जीवन व्यतीत कर सकते हैं ।

योग निद्रा का तरीका जानिए व जीवन से मुश्किलों को दूर करें।इसे करने के क्या फायदे है । Know the way of Yoga nidra and overcome difficulties from life.What are the benefits of doing this?

  • अभी तक आपने जाना योग निद्रा क्या है फायदे व क्रियाविधि के लिये ध्यान पूर्वक पूरा पढ़ें।
  • योग निद्रा के लिए सर्वप्रथम हमें अपने संपूर्ण दिनचर्या पर ध्यान देना होगा।
  • कि हम कम से कम सोने के एक दो घंटा पहले भोजन कर लें।
  • और उसके पश्चात रात्रि का जो भोजन हो वह हल्का भोजन होना चाहिए ।
  • ज्यादा तला भूंजा भोजन हमें योग निद्रा में बाधा पहुंचा सकता है ।
  • अब इसके पश्चात जिस कमरे में हमें योग निद्रा करनी हो वहां पर पूर्ण स्वच्छता रहे ।
  • कमरे में शांति रहे एवं उसमें अंधेरा होना चाहिए। अब सोने के पूर्व जब हम सोने की मुद्रा में आ रहे हैं।
  • अपने सारे मोबाइल, टीवी और लाइट बंद कर दे। फिर लेट जाएं ।
  • लेटने के पश्चात हम तीन गहरी लंबी सांसे ले । यह सांसे लेते हुए हम अपने जीवन के लक्ष्यों को ध्यान में रखें ।
  • और जो भी हमारा तात्कालिक लक्ष्य हो उसको ध्यान में करते हुए हम उसके पूर्ण होने की कामना करें।
  • इस प्रकार 3 गहरी लंबी सांसे लेटे हुए आंखें बंद होना चाहिए ।

योग निद्रा में शुरुआत करें । शारीरिक मुद्रा के क्या फायदे है।Start in Yoga nidra. What are the benefits of physical posture.

1- पीठ के बल लेटें, मुँह ऊपर आसमान की ओर होना चाहिए।

हाथ और पैर पैरों के आपस में बीच की दूरी लगभग 1 फीट की होना चाहिए।

2- और हाथ भी शरीर से दूर फैलाकर निश्चिन्त लेटे, अब हिलना डुलना नही है।

3- तीन गहरी लंबी सांसें लें , जिसे नाभि तक महसूस करें । लक्ष्य का स्मरण करते हुए उसके पूरा होने की कामना करें ।

                  योग निद्रा

4- अब आंख बंद किए हुए ही हम अपने शरीर के विभिन्न अंगों का ध्यान करते जाएंगे।

नीचे बाएं पैर के अंगूठे से लेकर के हम क्रमशः ध्यान करेंगे। ध्यान करने के साथ बंद आंखों से उस स्थान को देखते जाएं।

योग निद्रा में सभी ओर से मन को दूर कर ध्यान प्रारम्भ करें। जानिए क्या है फायदे! In Yoga nidra, start meditation by removing the mind from all sides.Know what is the benefit!

5- सबसे पहले हम ध्यान दें बाएं पैर के अंगूठे पर , बाएं पैर की पहली उंगली, दूसरी उंगली, तीसरी उंगली ।

चौथी उंगली बाएं पैर का तलवा, तलवे के ऊपर वाला हिस्सा, बाएं पैर की एड़ी , टखने की हड्डी।

बाएं पैर की पिंडली का ऊपरी हिस्सा, बाएं पैर की पिंडली का नीचे का हिस्सा।

6- बाएं पैर का घुटना ऊपरी हिस्सा , बाएं पैर का घुटना निचला हिस्सा, बाएं पैर के जांघ ऊपरी हिस्सा ।

बाएं पैर की जांघ निचला हिस्सा, बाएं कमर ऊपरी हिस्सा, बाई कमर निचला हिस्सा ।

योग निद्रा में अब ध्यान दाहिने पैर पर ले जाएंगे । In Yoganidra, meditation will now be shifted to the right foot.

7- दाहिने पैर का अंगूठा , दाहिने पैर की पहली उंगली, दाहिने पैर की दूसरी उंगली , तीसरी उंगली, चौथी उंगली।

तलवा, ऊपरी हिस्सा, टखने की हड्डी, पिंडली का ऊपरी हिस्सा, पिंडली का निचला हिस्सा,

8- घुटना ,घुटने का निचला हिस्सा ,दाहिने पैर की जांघ का ऊपरी हिस्सा, दाहिने पैर की जांघ का निचला हिस्सा।

दाहिनी कमर ऊपर हिस्सा, दाहिनी कमर निचला हिस्सा ।

9- इसके पश्चात दाहिने हाथ की अंगूठा , पहली उंगली , दूसरी उंगली, तीसरी उंगली , चौथी उंगली ,

10- दाहिने हाथ की हथेली , हथेली का पिछला हिस्सा, कलाई की हड्डी, कलाई से कोहनी तक का ऊपरी हिस्सा।

कलाई से लेकर कोहनी तक का निचला हिस्सा ,दाहिनी कोहनी ऊपर का हिस्सा,

11- दाहिनी भुजाओं का ऊपर का हिस्सा , दाहिनी भुजा निचला हिस्सा , दाहिना कंधा, दाहिनी बगल ।

बाएं हाथ पर ध्यान

12- इसी प्रकार बाए हाथ में बाएं हाथ का अंगूठा , पहली उंगली, दूसरी उंगली, तीसरी उंगली, चौथी उंगली,

13- बाएं हाथ की हथेली, हथेली का पिछला हिस्सा कलाई की हड्डी, कलाई से लेकर कोहनी तक का ऊपरी हिस्सा।

कलाई से लेकर कोहनी तक का निचला हिस्सा, बाएं हाथ की कोहनी , बाएं हाथ की भुजा ऊपरी हिस्सा ।

14- बाएं हाथ की भुजा निचला हिस्सा ,बाएं हाथ का कंधा, बाए हाथ की बगल।(योगनिद्रा क्या है फायदे व क्रियाविधि)

ध्यान को मस्तक की ओर ले जाएं।

15- मस्तक का दाहिना भाग, मस्तक का बाया भाग , बाई आंख , दाहिनी आंख ,

16- नासिका बाया नासिका छिद्र, दाहिना नासिका छिद्र, दाहिने गाल , बाँया गाल, ऊपरी ओंठ, ऊपरी दांत ,निचला ओंठ ,निचले दांत, जीभ ।

17- गर्दन ,गर्दन का पीछे वाला हिस्सा, सिर, सिर के ऊपर वाला हिस्सा, पसली की हड्डी ,कॉलर बोन, बाई छाती, दाहिनी छाती,।

18- पीठ बायां हिस्सा, दाहिना हिस्सा , कमर दाहिना हिस्सा ,बायां हिस्सा, नाभि के बायां हिस्सा, दाहिना हिस्सा ।

नाभि के नीचे दाहिना हिस्सा ,बाया हिस्सा , दाहिना नितंब , बाँया नितंब, जननेंद्रिय, गुदाद्वार ।

19- इस प्रकार समस्त अंगों को ध्यान करें। अर्थात आँख बंद कर उस स्थान, क्षेत्र पर अपनी दृष्टि ले जाएं। जिसका ध्यान करना है ।

20- ध्यान रहे आंखें बंद रहेंगी, बंद आंखों से हमें अपने सारे अंगों को देखना है, इसे हम ध्यान कहते हैं।

कैसे रहें फिट व युवा; 40 के पार! How to stay fit and young beyond 40!

कैसे रहें सदा प्रसन्न; डालें केवल एक आदत !How to stay happy always; Add only one habit!

कैसे लें अच्छी व गहरी नींद ?

हृदय में ध्यान को स्थित करें

21- अब समस्त अंगों का ध्यान करने के पश्चात हम अपने ध्यान को अपने हृदय में स्थित करेंगे ।

और 3 लंबी लंबी सांसे अपने लक्ष्य को याद करते हुए लेंगे । योग निद्रा क्या है फायदे व क्रियाविधि जानने के लिए इसे भी सुनें।

योग निद्रा से दूर करें कमजोरी व पाएं अद्भुत क्षमता Eliminate weakness and get amazing ability with Yoganidra

https://youtu.be/y2BqizspkPU

तत्पश्चात 21 तक आप गिनती गिने और एक लंबी सांस ऊपर और दूसरी सांस छोड़ते जाएं।

इस प्रकार सांस लेते हुए 21 तक और सांस छोड़ते हुए 21 तक इस प्रकार 21 बार हम अपनी सांसो को ले और छोड़ें।

तत्पश्चात बाई करवट लेट जाएं और अब आप सो सकते हैं। योगनिद्रा क्या है फायदे व क्रियाविधि जानकर आप आश्चर्यचकित हो जाएंगे।

क्या आप योग निद्रा के फायदे जान इसे अपनाना चाहते है। Do you want to adopt the benefits of Yoga nidra?

यदि आप दिन में कर रहे हैं , तब आप उठ कर बैठ सकते हैं ,व अपने अन्य कार्यों में लग सकते हैं।

या 15 मिनट का अभ्यास आपको 10 घण्टे की एनर्जी प्रदान कर देता है। इस प्रकारआप स्वयं को चार्ज कर सकते हैं।

इस प्रकार यह प्रक्रिया योगनिद्रा कराती है इस अभ्यास को करने के पश्चात जब आप सोते हैं ।

तो आप अनुभव करेंगे कि आपको किसी भी प्रकार का कोई स्वप्न नहीं दिखेगा ।

और इतनी गहरी नींद आएगी कि आप सीधे सुबह ही उठेंगे । बीच में क्या हुआ क्या नही इसका कोई आभास भी ना होगा।

  • क्योंकि यह निद्रा आपकी ध्यान में बदल जाएगी । जिस प्रकार जब हम ध्यान में तल्लीन हो जाते हैं ।
  • तो आसपास क्या हो रहा है इस बातों की जानकारी नहीं हो पाती।
  • उसी प्रकार जब आप योग निद्रा के बाद नींद लेते हैं । तब आपको ऐसी गहरी नींद आएगी कि आपको किसी बात का कोई होश नहीं रहेगा ।
  • और आप आश्चर्य करेंगे कि जो आप रोज नींद की गोलियां लेकर सोते थे, तब भी ऐसी नींद नहीं आ पाती थी ।
  • वैसी नींद आपको योग निद्रा का अभ्यास से आ जाएगी।(योग निद्रा क्या है फायदे व क्रियाविधि)

योग निद्रा से पाएं गहरी नींद और जीवन से दूर करें नींद की गोलियाँ Get deep sleep and overcome sleeping pills with Yoga nidra

  • अतः तैयार हो जाए, आज ही से अपनी सारी नींद की गोलियां अपने घर से बाहर निकाल फेंकें ।
  • क्योंकि यह नींद लाने की गोलियां नशा लाने की गोलियां है। इनसे नींद नहीं आती ।
  • नींद में आपका मस्तिष्क कार्य करने के पश्चात सचेत अवस्था में होता है ।
  • किंतु नींद की गोलियां आपको अचेत कर देती है । जो कि आपके शरीर के लिए बहुत ही हानिकारक है ।
  • अतः यदि कुछ दिन के अभ्यास में किसी कारणवश आप नींद ना ले पाए तो भी आप घबराएं नहीं ।
  • क्योंकि यदि आपको नींद नहीं आ रही है । तब भी आपने यदि यह 20 मिनट का अभ्यास इतना ही किया है,
  • तो भी यह आपके शरीर को पर्याप्त व्यवस्थित और संयोजित करने में सक्षम है।
  • इसके बाद यदि आप नींद नहीं लेते हैं तब भी आपने अपने आपको पूर्ण नींद प्राप्त कर ली है ।
  • अतः निश्चिंत होकर के आज से ही आप अपने जीवन में योग निद्रा को अपनाएं ।
  • और जीवन के सारे कष्ट और बीमारियों को स्वयं दूर करें । आपको अवश्य लाभ होगा।

गुरुदेव श्री श्री रविशंकरजी महाराज

https://youtu.be/HJ5wN5PtwTw

योग निद्रा क्या है फायदे व क्रियाविधि से आप अब भलीभांति परिचित हो चुके हैं।

अतः इसे अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाये और सुखमय जीवन पाएं।

ऐसी ही तमाम रोचक व उपयोगी जानकारी के लिए देखें

http://Indiantreasure.in

 

Spread the love

12 thoughts on “योग निद्रा से दूर करें तनाव ! योग निद्रा क्या है ? फायदे व क्रियाविधि!Relieve stress with Yoga nidra! What is Yoga nidra? Benefits and mechanism!

  1. बहुत बढिया लेख , योग निंद्रा सवासन

  2. योगनिद्रा पर आपने बहुत उपयोगी information दी, ये आज की आवश्यकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!