बात करने का तरीका बताइए Total Post View :- 648

बात करने की कला सीखें ! Learn the art of talking!

नमस्कार दोस्तों! बात करने की कला सीखें ! Learn the art of talking! बातचीत और बोली भाषा आप की वास्तविक स्थिति को दर्शाती है। और किस प्रदेश से हैं? आपके क्या संस्कार हैं? और आप का अध्ययन कितना गहरा व मजबूत है?यह सारी बातें आपके बातचीत करने का तरीका लोगों को बता देता है । यह एक ऐसी कला है जिससे आप स्वयं निखार सकते हैं।

आज हम आपको कुछ ऐसे ही बात करने के हुनर के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आप अपने व्यक्तित्व में चार चांद लगा सकते हैं। और प्रत्येक व्यक्ति को अपने बातों के सम्मोहन से सम्मोहित कर सकते हैं। यदि आप बातचीत शुरू करने में डरते हैं या आप यह नहीं जानते कि अब बातचीत का एंड कैसे होगा। या किसी से ज्यादा देर तक बात करने का मन है लेकिन आप बोल ही नहीं पाते हैं ?

ऐसी स्थिति में आपको बिल्कुल भी अब चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है यह आर्टिकल आप में बात करने की ऐसी मनमोहक कला उत्पन्न कर देगा जिससे आप सभी के प्यारे और अजीज हो जाएंगे। अतः अंत तक ध्यान से पढ़ें बात करने की कला कैसे सीखें।

बात करने की कला !

1- अपनी बात को ठीक से व्यक्त कर पाना भी एक विशेष कला है।

यह जरूरी नहीं है कि बहुत ज्यादा बोला जाये। साधारण बात भी नपे-तुले शब्दों में की जाए तो उसका गहरा असर होता है।

2- अपनी बात को नम्रतापूर्वक किन्तु स्पष्ट व निर्भयता से बोलने का अभ्यास करें।

जहाँ बोलने की आवश्यकता हो वहाँ अनावश्यक चुप न रहें। स्वयं को हीन न समझे।

धीरे-धीरे गम्भीरतापूर्वक मुस्कराते हुए स्पष्ट आवाज में सद्भावना के साथ बात करें।

मौन का अर्थ केवल चुप रहना नहीं वरन उत्तम बातें करना भी है।

3. अपनी बात को बेझिझक एवं निर्भय होकर स्पष्ट रूप से बोलें। वाक्यों और शब्दों का सही उच्चारण करें।

केवल शब्दों से ही नहीं वरन अपने कार्यों से भी अपनी बात को सिद्ध करें।

भाषा में मधुरता व शालीनता रहे। हँसी-मजाक में भी शालीनता बनाए रखें।

धीमे बोलें, बात करते समय बीच में किसी को टोके नहीं। बातचीत में आत्मप्रशंसा से बचें।

अवश्य पढ़ें जीवन मे असफलता का सबसे बड़ा कारण ? लिखें सफलता की कहानी!!

बात करने की कला व तरीके !

1- दूसरों की बात को भी ध्यान से व एकाग्र होकर सुनें, सोचें और फिर विचार कर उत्तर दें ।

धैर्यपूर्वक किसी को सुनना एक बहुत बड़ा सद्गुण है। सामने देखकर बात करें। बात करते समय संकोच न रखें, नहीं डरें।

2- बोलते समय सामने वाले की रुचि का भी ध्यान रखें। सोच-समझ का संतुलित रूप से अपनी बात रखें।

बात करते हुए अपने हाव भाव व शब्दों पर विशेष ध्यान देते हुए बात करें।

3- उपयुक्त अवसर देखकर ही बोले। अपनी बात को संक्षिप्त और अर्थपूर्ण शब्दों में बताएँ।

किसी बात की जानकारी न होने पर धैर्यपूर्वक प्रश्न पूछकर अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

इससे एक अच्छा श्रोता बनने व ज्ञान विस्तार करने का दोहरा लाभ मिलेगा।

4- बातचीत में हार्दिक सद्भाव व आत्मीयता का भाव बनाये रखें।

अच्छी बात करने का तरीका !

1- किसी से भी अच्छे से बात करने का तरीका है कि किसी की गलत बात को सुनकर उसे तुरंत ही अपमानित न कर

उस समय मौन रहें। किसी उचित समय पर उसे अलग से नम्रतापूर्वक अपनी बात बताएँ।

2- दो लोग बात कर रहे हों तो बीच में न बोलें। बिन माँगी सलाह न दें।

समूह में बात हो रही हो तो स्वीकृति लेकर अपनी बात संक्षिप्त में कहना शालीनता है।

इसे भी पढ़ें तनावमुक्त जीवन कैसे जियें ?

बड़ों से बात करने का तरीका!

1- बात करने का सही तरीका सीखें । प्रिय मित्र, भ्राता श्री, आदरणीय, बहनजी, मीठे भाई, पूज्य दादाजी,

श्रद्धेय पिताजी, वन्दनीया माताजी या आदरणीय आदि संबोधनों से अपनी बात को प्रारंभ करें।

2- मीटिंग के बीच से आवश्यक कार्य से बाहर जाना हो तो नम्रतापूर्वक इजाजत लेकर जाएँ।

3- अधिक चुप रहना और अधिक बोलना दोनों ही सफलता में बाधक हैं। ठोस व नपी-तुली बात करें, अवसर पाकर बात करें,

दूसरों की पूरी बात सुनकर बोलें, किसी की बात को धीरज पूर्वक सुनना भी एक कला है।

‘सुनने की कला’ ‘बात करने की कला’ के समान ही महत्वपूर्ण है।

फोन पर बात करने का तरीका !

1- एक दूसरे से फोन पर बात करते हुए इस बात का ध्यान रखें कि सामने वाला आपकी परिस्थितियों को नहीं जानता है।

अपने भावों पर नियंत्रण रखें तथा संयमित वार्ता करें । फोन पर धीरे बात करनी चाहिए।

सामने वाला क्या कहना चाहता है उसकी बात को पूरा सुने बिना कोई भी उत्तर नहीं देना चाहिए ।

ड्राइविंग करते हुए, भोजन करते हुए पूजन करते हुए या किसी आवश्यक कार्य में लगे रहते समय फोन ना उठाएं।

लेकिन कार्य पूरा होते ही तत्काल व्यक्ति को उत्तर अवश्य दें फोन पर बात करने का यही सही तरीका है।

इसे भी पढ़ें

स्वयं के लिए कैसे जियें ?

https://www.acchibaat.com/baat-karne-ka-tarika-kya-hai/

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!