पानी पीने का सही तरीका ; पानी से बड़ा कोई वैद्य नहीं ! Total Post View :- 861

पानी पीने का सही तरीका ; पानी से बड़ा कोई वैद्य नहीं !

क्या आप जानते हैं कि पानी पीने का सही तरीका क्या है ।गुर्दे की औषधि पानी है, इससे बड़ा कोई वैद्य नहीं है। पानी को सभी बहुत साधारण मानते हैं तथा इसका उपयोग भी मनमाने तौर पर करते हैं । हमारे शरीर का 75 प्रतिशत पानी ही है। इसका सही उपयोग स्वस्थ व फिट रहने के लिए बहुत जरूरी है।

यह हमारे शरीर से सभी जहरीले तत्वों को निकालता है । तथा शरीर में चर्बी की मात्रा और दुबलापन भी इस पर निर्भर करता है। पानी के उपयोग से पाचन तंत्र को दुरुस्त किया जा सकता है ।और शरीर से भयानक से भयानक रोगों से मुक्ति पाई जा सकती है। किंतु उसका सही मात्रा में सही समय पर सही तरीके से उपयोग करना आवश्यक है ।आज जानेंगे पानी पीने का सही तरीका क्या है ।

पानी पीने का गलत तरीका कई रोग पैदा करता है !

  • गलत मात्रा में, गलत समय पर व गलत तरीके से पानी पीने से अनेक रोग होते हैं।
  • जैसे कि अपचन, कब्ज, गैस, लीवर की कमजोरी, सुस्ती आना, गुर्दे की पथरी, रोग प्रतिरोधक क्षमता का कम होना,
  • बार बार बीमार पड़ना, स्किन एलर्जी, चेहरे पर दाग धब्बे होना, वाइटहेड्स, ब्लैकहेड्स, होना।
  • खाया पिया शरीर में ना लगना, जोड़ों में दर्द होना और शरीर में अनचाहे जगह पर चर्बी का चढ़ना ,
  • शरीर में विभिन्न दर्द होना, चक्कर आना, वजन बढ़ाने या घटाने में दिक्कत महसूस करना ।
  • बालों का झड़ना, रातों को नींद ना आना, चिड़चिड़ापन, जैसे कई बीमारी केवल पानी को गलत तरीके से
  • और गलत मात्रा में गलत समय पर पीने से उत्पन्न होती। तो आइए जानते हैं पानी पीने का सही तरीका क्या है ।

पानी पीने की सही मात्रा !

  • हमारे शरीर से लगभग 2 लीटर पानी रोज बाहर निकल जाता है।
  • अतः सामान्यतः व्यक्ति को कम से कम ढाई से 3 लीटर पानी तो अवश्य ही पीना चाहिए ।
  • जो कि एक सामान्य गिलास से 8 से 12 गिलास तक होता है।
  • गर्मी के मौसम में क्योंकि पसीना ज्यादा निकलता है इसलिए पानी की मात्रा बढ़ाई जा सकती है।

अधिक पानी पीने से नुकसान !

  • अधिक मात्रा में पानी पीने से किडनी का काम बढ़ जाता है और ब्लड से सोडियम भी निकल जाता है ।
  • लेकिन ऐसा तब होता है जब कोई व्यक्ति एक दिन में 4 से 5 लीटर से ज्यादा पानी पी लेता है ।

पानी पीने का सही तरीका !

  • हमेशा बैठकर और घूंट घूंट कर पानी पीना चाहिए। इसे मुंह में रखकर 4 से 5 सेकंड तक घुमा कर ,
  • तीन या चार सांसों में पीना चाहिए।
  • जिससे मुंह में मौजूद लार पेट में जाती है और एसिडिटी की प्रॉब्लम दूर होती है तथा पाचन तंत्र मजबूत होता है।
  • कई लोग खड़े होकर बोतल से या ऊपर से मुंह में डालकर पानी पीते हैं ।
  • जिससे पानी के साथ-साथ हवा भी अंदर चली जाती है और जोड़ों में दर्द आदि समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं ।
  • खड़े होकर पानी पीने से किडनी पर बहुत जोर पड़ता है। और यह पानी को ठीक तरह से फिल्टर नहीं कर पाती है।
  • एक बार में एक या डेढ़ गिलास तक या जितनी प्यास हो उतना ही पानी पीना चाहिए।
  • एक बार में बहुत ज्यादा पानी पी लेने से किडनी उसे फिल्टर नहीं कर पाती ।
  • और यह पेशाब के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है
  • पानी हमेशा नार्मल पीना चाहिए । अधिक ठंडा पानी पीने से शरीर उसे पहले गर्म करता है उसके बाद उसका उपयोग शरीर में हो पाता है।
  • ठंडा पानी हमारे शरीर में पच रहे भोजन को सख्त कर देता है जिससे अपच और कब्ज की परेशानी हो जाती है।

पानी कब नहीं पीना चाहिए!

  • भोजन करते समय या भोजन के तुरंत बाद कभी भी पानी नहीं पीना चाहिए।
  • भोजन करने के पूर्व या बीच में केवल गले को गीले करने के हिसाब से एक घूंट पानी पीना चाहिए।
  • क्योंकि ज्यादा पानी पी लेने से यह हमारे भोजन को तरल बना देता है।
  • जिससे भोजन में पाचन रस नहीं बन पाता और यह भोजन को पचने में दिक्कत करता है।
  • रात को सोने के पूर्व या रात में बीच में उठकर पानी नहीं पीना चाहिए ।
  • क्योंकि सोते समय हमारा शरीर एक्टिव नहीं रहता है जिससे किडनी पर लोड पड़ता है।
  • पानी पीने के बीच में कम से कम 45 मिनट से 1 घंटे का अंतर होना चाहिए ।
  • जल्दी-जल्दी पानी पीने से यह पानी हमारे शरीर में उपयोग हुए बिना ही पेशाब के जरिए बाहर निकल जाता है।
  • जब पेशाब का रंग पानी की तरह हो जाए तब यह समझना चाहिए कि अभी आपको पानी की जरूरत नहीं है।
  • ऐसी स्थिति में पेशाब जाने की कम से कम 15 से 20 मिनट बाद ही पानी पीना चाहिए ।
  • फल खाने के बाद कभी भी पानी नहीं पीना चाहिए।
  • क्योंकि इससे खाई हुई चीज सख्त हो जाती है और यह पाचन में दिक्कत करती है।
  • गर्म चीजें जैसे चाय कॉफी आदि पीने के बाद कभी भी पानी नहीं पीना चाहिए ।
  • इससे मसूड़ों और दांतों को नुकसान होता है। आप जानते हैं कि पानी के पीने का सही समय क्या है

पानी कब पीना चाहिए !

  • सुबह खाली पेट पीने से यह पानी शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकाल देता है और पेट की सफाई हो जाती है।
  • इसी प्रकार भोजन के 1 घंटा पूर्व एक एक गिलास पानी अवश्य पीना चाहिए ।
  • रात में पानी कम पीना चाहिए। रात में भोजन के 2 घंटे बाद दूध पीना चाहिए।
  • क्योंकि इसमें मौजूद प्रोटीन रात में धीरे-धीरे हमारे शरीर को स्वस्थ और मजबूत बनाता है।
  • धूप से आने या एक्सरसाइज करते समय भी पानी नहीं पीना चाहिए ।
  • आवश्यकता होने पर मात्र घूंट दो घूंट पानी पीना चाहिए।
  • एक्सरसाइज के बाद आधे घंटे बाद एक गिलास पानी पिया जा सकता है।

इस प्रकार दिन में पानी पीने के बीच में 2 घंटे का अंतर होना चाहिए। पानी पीने का सही तरीका जानकर हम बहुत सी बीमारियों से दूर हो सकते हैं । तथा हमारा पाचन तंत्र दुरुस्त होता है और मोटापे, गैस, अपचन आदि की समस्याएं आसानी से दूर हो जाती है।

आपको पानी पीने का सही तरीका से सम्बन्धित पोस्ट अच्छी लगी तो इसे अवश्य शेयर करें और देखते रहे आपकी अपनी वेबसाइट

http://Indiantreasure. in

संबंधित पोस्ट भी पढ़ें !

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!